Wednesday, August 27, 2014

जब तक पत्ता डाल पर.............................


जब तक पत्ता डाल पर,तब तक है पहचान। 

टूटे पत्ते को मिला,केवल कूड़ेदान। । 

-कुँवर कुसुमेश

7 comments:

  1. शाख से बिछड़ के पत्ते कूड़े में बदल जाते हैं...बहुत खूब...

    ReplyDelete
  2. जब तक पत्ता डाल पर ,
    तब तक है पहचान ,
    टूटे पत्ते को मिला ,
    केवल कूड़ेदान ,
    मगर जिसे हम कूड़ा कहते ,
    वो उसे धरती का वरदान ,
    धरती से मिल करके ,
    बनके खाद , करता हम सबका व इस धरती का कल्याण !
    Information and solutions in Hindi ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )
    ~ I.A.S.I.H पोस्ट्स न्यूज़ ~ ( ब्लॉग पोस्ट्स चर्चाकार )

    ReplyDelete
  3. ............. अनुपम भाव संयोजन

    Recent Post शब्दों की मुस्कराहट पर ….... बारिश की वह बूँद:)

    ReplyDelete
  4. अच्छी रचना !
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है !

    ReplyDelete