Tuesday, August 26, 2014

न बिजली है,न पानी है........................




ये कैसी दुर्व्यवस्था है,ये कैसी हुक्मरानी है। 

जिधर भी देखिये जाकर न बिजली है,न पानी है। 

जो कहता हूँ किसी नेता से जा करके मैं ये बातें,

तो वो कहता है हँस करके यही तो ज़िन्दगानी है।

-कुँवर कुसुमेश

7 comments: