Tuesday, July 1, 2014

हालत खस्ता......


गया जून आ गई जुलाई। 

विद्यालय में शुरू पढ़ाई। । 

क़लम,किताबें,कापी,बस्ता,

अभिभावक की हालत खस्ता।। 

-कुँवर कुसुमेश

3 comments:

  1. अभिभावक की हालत सचमुच बहुत खस्ता है..कहीं दाखिले होने से पहले कहीं दाखिले होने के बाद..

    ReplyDelete
  2. बढ़िया है आदरणीय-
    आभार-

    ReplyDelete
  3. बेहद उम्दा रचना और बेहतरीन प्रस्तुति के लिए आपको बहुत बहुत बधाई...
    नयी पोस्ट@दर्द दिलों के
    नयी पोस्ट@बड़ी दूर से आये हैं

    ReplyDelete